CCSU : 38 कोर्स में बदलाव को हरी झंडी, 1 जुलाई से नई शिक्षा नीति से होगी पढ़ाई

CCSU : 38 कोर्स में बदलाव को हरी झंडी, 1 जुलाई से नई शिक्षा नीति से होगी पढ़ाई

CCSU : 38 कोर्स में बदलाव को हरी झंडी, 1 जुलाई से नई शिक्षा नीति से होगी पढ़ाई

Rojgartak

चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय कैंपस और कॉलेजों में आगामी एक जुलाई से नई शिक्षा नीति (एनईपी) से पढ़ाई होगी। विवि ने स्नातक स्तर पर 38 विषयों को एनईपी के तहत अपग्रेड करते हुए एक जुलाई से लागू करने को हरी झंडी दे दी है। मई में बोर्ड ऑफ स्टडीज (बीअेएस) की बैठक में इन विषयों के राज्य स्तरीय सिलेबस को स्वीकार किया गया था। इसमें 70 फीसदी कोर्स न्यूनतम समान पाठ्यक्रम से लिया गया है, जबकि 30 फीसदी कोर्स स्थानीय स्तर पर बदला गया है। कोर्स को स्वीकार करने के बाद आगामी सत्र में नई शिक्षा नीति के अनुसार प्रवेश का रास्ता भी साफ हो गया है।

कुलपति प्रो. एनके तनेजा की अध्यक्षता में हुई एकेडमिक काउंसिल की बैठक में सभी 38 विषयों के सिलेबस को स्वीकार कर लिया गया। काउंसिल में डीएससी-डीलिट के नए ऑर्डिनेंस को भी मंजूरी दी गई है। इस ऑर्डिनेंस के बाद डीएससी-डीलिट के रजिस्ट्रेशन और इसे पूरा करने सहित विभिन्न स्तरों पर नियम समान हो जाएंगे। बैठक में प्रोवीसी प्रो. वाई विमला, प्रो. हरे कृष्णा, डॉ. अंजलि मित्तल, प्रो. एनसी लोहनी, प्रो. विकास शर्मा और प्रो. मृदुल गुप्ता मौजूद रहे।

रामचरित मानस संस्कृत-हिन्दी में
एकेडमिक काउंसिल ने रामचरित मानस को भी कोर्स में शामिल करने पर मुहर लगा दी है। यह पेपर हिन्दी और संस्कृत में माइनर विषय के रूप में पढ़ने को मिलेगा। किसी भी फेकल्टी के छात्र इस पेपर को पढ़ सकेंगे। काउंसिल ने रामचरित मानस के सिलेबस को भी अनुमोदित कर दिया।

Facebook Instagram Windows Apps
YouTube channel Telegram Android App



Copyright © 2018-2025 RojgarTak.com All Rights Reserved |