d Pharmacy1st Year and 2nd Year Result 2020,2021,2022 Rajasthan university

d. Pharmacy 1st Year and 2nd Year Result 2020,2021,200Rajasthan university

(डी। फार्मेसी प्रथम वर्ष और द्वितीय वर्ष का परिणाम 2020,2021 राजस्थान विश्वविद्यालय)

d pharma in Rajasthan university
Name Address
Jaipur School of Pharmacy Maharaj Vinayak Global University Campus, Dhand, Tehsil – Amer
Jodhpur Pharmacy College Village Narnidi, Jhanwar Road, Near Boranada
Kamaksha Institute of Pharmacy RIICO Industrial Area Sagwara
Krishnadevi Maheshwari Pharmacy College Bagar – Jhunjhunu Road, Bagar
  • Rajasthan University of Health Sciences (RUHS) was established under the Act of State Government” The Rajasthan University of Health Sciences Act, 2005″ (Act No. 1 of 2005)”on 25th day of February, 2005. The University aims to disseminate and advance knowledge in medical and health sciences. The University provides academic and research facilities in various streams to the students studying in various Government Colleges (Medical, Dental, Nursing, Pharmacy & Paramedical) and private colleges/institutions affiliated to this University. The University endeavors the process of making itself a leader in world class medical education by focusing on the systemic instructions, teaching, training and research activities.
  • राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (आरयूएचएस) की स्थापना राज्य सरकार के अधिनियम “राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान अधिनियम, 2005” (2005 का अधिनियम संख्या 1) के तहत फरवरी, 2005 के 25 वें दिन की गई थी। विश्वविद्यालय का उद्देश्य प्रसार और प्रसार करना है चिकित्सा और स्वास्थ्य विज्ञान में उन्नत ज्ञान। विश्वविद्यालय इस विश्वविद्यालय से संबद्ध विभिन्न सरकारी कॉलेजों (चिकित्सा, दंत चिकित्सा, नर्सिंग, फार्मेसी और पैरामेडिकल) और निजी कॉलेजों / संस्थानों में पढ़ने वाले छात्रों को विभिन्न धाराओं में शैक्षणिक और अनुसंधान सुविधाएं प्रदान करता है। विश्वविद्यालय प्रयास करता है प्रणालीगत निर्देशों, शिक्षण, प्रशिक्षण और अनुसंधान गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित करके खुद को विश्व स्तरीय चिकित्सा शिक्षा में अग्रणी बनाने की प्रक्रिया।
  • RUHS Pharmacy Result 2020,2021: The Rajasthan University of Health Sciences (RUHS), Jaipur has announced the result of RUHS Pharmacy 2020 in online mode. RUHS B Pharm/D Pharm result 2020 has been released in PDF format. A link to download RUHS Pharmacy 2020 result is provided below on this page. RUHS Pharmacy result 2020 has been announced for candidates who appear for RUHS B Pharm/D Pharm exam on January 12, 2021. RUHS Pharmacy merit list 2020 mentions roll number, candidate’s name, father’s name and RUHS B Pharm/D Pharm scores. RUHS B .Pharm/D.Pharm results has been announced for a total of 2331 candidates. Only aspirants included in RUHS Pharmacy 2020 result, aspirants will be called for counselling and choice filling process. Read the article on RUHS Pharmacy result 2020, how to download, dates, tie-breaking, counselling and other process
  • RUHS Pharmacy Result 2020,2021: राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (आरयूएचएस), जयपुर ने ऑनलाइन मोड में आरयूएचएस फार्मेसी 2020 के परिणाम की घोषणा की है। RUHS B Pharm / D Pharm परिणाम 2020 पीडीएफ प्रारूप में जारी किया गया है। इस पृष्ठ पर नीचे आरयूएचएस फार्मेसी 2020 परिणाम डाउनलोड करने का लिंक दिया गया है। RUHS फार्मेसी परिणाम 2020 उन उम्मीदवारों के लिए घोषित किया गया है जो 12 जनवरी, 2021 को RUHS B Pharm / D Pharm परीक्षा में शामिल होंगे। RUHS फार्मेसी मेरिट लिस्ट 2020 में रोल नंबर, उम्मीदवार का नाम, पिता का नाम और RUHS B Pharm / D Pharm स्कोर का उल्लेख है। कुल 2331 उम्मीदवारों के लिए RUHS B .Pharm/D.Pharm परिणाम घोषित किए गए हैं। केवल आरयूएचएस फार्मेसी 2020 परिणाम में शामिल उम्मीदवारों को काउंसलिंग और च्वाइस फिलिंग प्रक्रिया के लिए बुलाया जाएगा। आरयूएचएस फार्मेसी परिणाम 2020 पर लेख पढ़ें, कैसे डाउनलोड करें, तिथियां, टाई-ब्रेकिंग, परामर्श और अन्य प्रक्रिया
  • Latest Updates: To download RUHS B. Pharm/D.Pharm Result 2020 – Click here

RUHS Pharmacy 2020,2021 Result Dates

Candidates must check the important dates related to

RUHS Pharmacy 2020 result from the table mentioned below.

RUHS Pharmacy Result Dates

S. No. Events Dates
1 RUHS Pharmacy 2020 January 12, 2021
2 Declaration of RUHS Pharmacy result 2020 January 20, 2021 – Announced
3 RUHS Pharmacy 2020 counselling begins (choice filling) To be notified
» Submission of exam form of B. Pharmacy I Semester-End Semester Examination October-202

» Submission of Exam Form of Para Medical Supp. Exam. October 2021

» Final Seniority List of Deptt. of Dental Material

» Provisional Seniority List of Various Departments of RUHS-CDS

» Final Seniority List of Various Departments of RUHS-CDS (As on 01-04-2021)

» Corrigendum regarding seniority list of Conservative Dentistry

» Time Table of B.Pharma III, V & VII Sem. End Semester Exam Sept-2021

» Time Table of B.Pharma II, IV & VI Sem. Re-Exam End Semester Exam Sept-2021

» Final Seniority List of Oral Surgery (As Per 01-04-2021)

» Final Seniority List of Orthodontics (As Per 01-04-2021)

» Final Seniority List of Periodontics (As Per 01-04-2021)

» Provisional Seniority List of Oral Surgery (As Per 01-04-2021)

» Provisional Seniority List of Orthodontics (As Per 01-04-2021)

» Provisional Seniority List of Pedodontics (As Per 01-04-2021)

» Information for Enrolment form filling Session 2020-21 Nursing, pharmacy, BPT, and Paramedical

» RUHS Non Teaching Recruitment-2017 (Refund Status)

Proposed Examination Scheme for Multi Point Entry & Credit System (March 2022) Examination
Proposed Examination Scheme for Special Back Paper (March 2022) Examination
Proposed Examination Scheme for Odd Semester (March 2022) Examination
विषम सेमेस्टर दिसम्बर 2021 के सैत्रिक / गेम्स/अनुशासन /SCA के अंक भरे जाने के सम्बन्ध में आवश्यक सूचना (अंतिम तिथि 20/02/2002)
सम सेमेस्टर ,मई 2022 हेतु निधारित समय सारिणी
विषम सेमेस्टर /विशेष बैक पेपर /मल्टी पॉइंट एंट्री एंड क्रेडिट सिस्टम दिसम्बर 2021 परीक्षा स्थगित किये जाने एवं सम सेमेस्टर की कक्षाये दिनाक 22/01/2022 से ऑनलाइन के माध्यम से शुरू किये जाने के सम्बन्ध में आवश्यक सूचना
Nominal Roll for ODD Semester January 2022 Examination
छात्रवृति / शुल्क प्रतिपूर्ति 2021 – 2022 की सूचना उपलब्ध कराने हेतु महत्वपूर्ण सूचना
AICTE के इंटर्नशिप पोर्टल पर पंजीकरण की सूचना उपलब्ध कराए जाने के सम्बन्ध में सूचना
AICTE द्वारा आयोजित कार्यशाला के सम्बन्ध में आवश्यक सूचना (दिनाक 06/01/2022 एवं 07/01/2022 ,स्थान : राजकीय महिला पॉलिटेक्निक ,लखनऊ )
AICTE इंटर्नशिप पोर्टल पर रजिस्टर करने हेतु आवश्यक सूचना
राष्ट्रीय शैक्षिक गठबंधन (NEAT) पोर्टल पर छात्रों के पंजीकरण एवं पाठ्यक्रमों हेतु मुफ्त कूपन हेतु आवश्यक सूचना
Letter for Examination Scheme
सत्र 2021-22 मे नव-प्रवेशित छात्र छात्रओं के नामांकन हेतु दिनाक 23/12/2021 को पुनः लिंक खोले जाने से सम्बंधित महत्वपूर्ण सूचना (नामांकन की तिथि 23/12/2021)
Important Lttter for NOC ( Session 2022-23 )
विशेष बैक पेपर परीक्षा 2021 के परीक्षा आवेदन पत्र एवं अन्केय के सम्बन्ध में आवश्यक सूचना (परीक्षा आवेदन भरने की अंतिम तिथि दिनांक 22/12/2021)
प्राविधिक शिक्षा परिषद् की विषम सेमेस्टर जनवरी 2021 हेतु परीक्षा आवेदन भरने एवं अन्य से सम्बंधित सूचना (परीक्षा आवेदन भरने की अंतिम तिथि दिनांक 22/12/2021)
संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद् ,उत्तर प्रदेश में सत्र 2021-22 में प्रवेश हेतु 11वें चरण की काउन्सिलिंग प्रकिया के बाद प्रवेशित छात्र छात्रओं के नामांकन एवम् नामांकन तिथि बढाए जाने से सम्बंधित महत्वपूर्ण सूचना (नामांकन की अंतिम तिथि 10/12/2021)
सत्र 2021-22 मे प्रवेशित छात्र छात्रओं के नामांकन की तिथि बढाए जाने से सम्बंधित महत्वपूर्ण सूचना (नामांकन की अंतिम तिथि 04 /12/2021)
सत्र 2021-22 मे प्रवेशित छात्र छात्रओं के नामांकन से सम्बंधित महत्वपूर्ण सूचना (नामांकन की अंतिम तिथि 29/11/2021)
Important Letter for Scholarship
सम सेमेस्टर / वार्षिक परीक्षा 2021 की सरणियन पंजिका (Tabulation Register) परिषद् की वेबसाइट bteup.ac.in के institute Login पर उपलब्ध है |
EQUIPMENT LIST FOR ALL ELECTRONICS RELATED BRANCHES EFFECTIVE FROM SESSION 2021-22
Reminder Letter to Fill Sessional Marks
Reminder Letter for Practical Marks
Information to fill Sessional Marks
Information to Fill Practical Examination Marks
Important Information for Scholarship & related activities for the session 2021-22
Information for Mock Test
Important Instructions for On-Line Examination System
Proposed Examination Scheme of Final Year (August 2021) Annual System Examination
Proposed Examination Scheme of First Year & Second Year (August 2021) Annual System Examination
Proposed Examination Scheme of Final Smester (August 2021) Semester System Examination
Proposed Examination Scheme of Second & Fourth Semester (August 2021) Semester System Examination
Important Letter for Practical Examination
Letter for Extension of Approval
Letter for Extension of Affiliation
Bidding for MCQ based Online examination for Board of technical education Lucknow Last date of submission 12 :00 Noon of 10 July 2021
Information for ON-LINE Examination
Letter for Incomplete Practical Examination
निजी क्षेत्र की संस्था मे दिनांक 01-04-2020 से अब तक कोविड-19 महामारी से एवं कोविड-19 के कारण मृत हुए संकाय सदस्यों/कार्मिकों के संबंध में सूचना।
कोविड-19 महामारी के कारण मृत हुए संकाय सदस्यों, कार्मिकों एवं छात्रों आदि के संबंध में सूचना। प्रारूप -1
कोविड-19 महामारी के कारण मृत हुए संकाय सदस्यों, कार्मिकों एवं छात्रों आदि के संबंध में सूचना। प्रारूप -2
Procedure to Reset Login Password
Examination of Question Paper Code 2045,Subject -Construction Materials ,will be held on 31.03.2021 (02.00 PM to 04.30 PM)
Letter for Submission of Sessional/Games/Discipline Marks
Last Date Extended to 06-03-2021 to Fill Enrollment form form
Last Date Extended to 07-03-2021 to Fill Examination form
Important Letter for Examination Form
Proposed & Revised Examination Scheme for Semester System ( March 2021 )Examination
Proposed Examination Scheme for Multi Point Entry & Credit System Examination March 2021
Proposed Examination Scheme for Special Back Paper March 2021 Examination
Letter for Examination Forms
Important Information for Covid Special Examination February 2021
Covid-19 Examination Scheme for Even Semester February – 2021 (Annual System Students )
Covid-19 Examination Scheme for Even Semester February – 2021 (Semester Students)
Last date of Enrollment Forms is 25/12/2020
Community Development Examination Scheme for Level-V (DECEMBER 2020)
Letter for Distribution Of Question Papers in Hindi & English Format
Last Date Extended for Sessional Marks (Semester System) & Pharmacy First Year
Very Imortant Notice for Examination Centers for Back Paper and Special Back Paper September 2020 Examination
Proposed Examination Scheme for Multi Point Entry & Credit System Examination
Proposed Examination Scheme for Only Back Paper Examination
Proposed Examination Scheme for Back Paper Examination (for Final Semester & Final Year)
Proposed Examination Scheme for Final Year Examination
Proposed Examination Scheme for Final Semester Examination
Even Semester Examination will start on 25 September 2020
Notice regarding Mock Test for On-Line Question Paper Distribution
Letter for Entry of Theory & Practical Marks (Only for First Year Pharmacy Course)
Institute Login Open for Selected Institutions
Date Extent to fill Sessional/Games/Discipline/Carryover and Other Marks for Even Semester 2020 Examination
Procedure to Reset Login Password
Notice for Marks Entry of Practical Marks (Only for Final Semester/Year) and Sessional Marks for all the semesters
Proposed Examination Scheme for Final Year (Annual System) Examination (September 2020)
Notice for Re-open Examination Form
Important Notice for Principals/Directors of Private Polytechnics for U_RIse Portal
Letter regarding Special Back Paper Fees
Last Date for Examination Form 08 August 2020
Letter for Last Date of Examination Forms & Fee Submission Procedure
Information for Mock test for Question Paper Dated 30/05/2020
Information for Affiliation (session 2020-2021)
Time Schedule of Affiliation for the session 2020-2021
Information required for Online Distribution of Question Papers
Important Instructions to Fill the Institute Profile
Important letter to fill Institute Information, through Institute Login on BTE UP website
Regarding not emptying the hostel
Notice for Covid-19 (Corona) to Institutions
Important Instructions regarding Covid-19 (Corona)
Merit List of Top 10 & Group Wise Top 3 Students for Samman Samaharoh 2020
Online Payment Procedure for Scrutiny/Revaluation for Odd Semester (December 2019) Examination
PROCEEDINGS OF 57th BOARD MEETING
PROCEEDINGS OF 56th BOARD MEETING
Examination Result For Odd Semester (December 2019) & Special Back Paper Examination ,declared
Important Information for Practical Examination
मल्टी पॉइंट एंट्री एंड क्रेडिट सिस्टम की निरस्त परीक्षाओ हेतु संशोधित परीक्षा कार्यक्रम
विशेष बेक पेपर की निरस्त परीक्षाओ हेतु संशोधित परीक्षा कार्यक्रम
प्राविधिक शिक्षा परिषद् की दिनाक 21/12/2019 से 26/12/2019 की विशेष बेक परीक्षा,सभी परीक्षा केंद्र पर निरस्त की जा रही है |
Important Letter for Special Back Paper Exam on 20/12/2019
Examination Form Link Open
Very Important Letter for Question Paper Invoice for Odd Semester December 2019 Exam
Tender Notice for Transportation Work
Tender Notice for Security Gards in BTEUP
Examination Scheme for Multi Point Entry & Credit System Examination (Decmber 2019)
Examination Scheme for Special Back Paper Examination (Decmber 2019)
Proposed Examination Scheme for Odd Semester ( December 2019 )Examination
Last date Extended till 25/09/2019 of Enrollment for New Enrolled Students (2019-20)
Last date of Enrolment for Newly Enrolled Students 18/09/2019
Academic Calendar for The Odd Semester (December 2019) Examination
Last Date for Entry of Sessional/Games/Discipline/carry Over Marks extended up to 27/06/19
Examination Scheme For Even Semester June 2019 Examination
Examination Scheme for Annual System June 2019 Exam.
Examination Scheme for Back Paper & Only Back Paper Examination June 2019 Exam
Examination Scheme for Multi Point Entry & Credit System June 2019 Examination
Important Letter for Question Paper Invoice (June 2019) Examination Last Date 07/05/2019
Information Regarding Online Examination form for Semester/Annual/Only Back Paper Examination ,JUne 2019
Letter regarding Examination Fee & Other for Semester/Annual/Only Back Paper Examination,May 2019
Press release for New Institution
Proposed Examination Scheme for Community Development Scheme of Level -4 Examination December 2018
Examination Result of Semester System/Annual System/Special Back Paper is available on result.bteupexam.in
Important Letter for Question Paper Invoice
Important Information for Sum Semester/Annual System/Multi Point System/Back Paper (May 2018) Examination Scheme
Information for NOC for Diploma Level Courses
Last Date for NOC extended till 29/01/2018
Inspection Format for the Affiliation process 2018-19
Prospective Plan to Establish New Institutions/Courses in Technical Education Department
Information for NOC in Private Sector (Diploma Level)
Application Form for issue of NO OBJECTION CERTIFICATE by State Government

How to check your RUHS Pharmacy 2020,2021 Result

RUHS Jaipur has published the RUHS Pharmacy result 2020 in online mode. Candidates can check the process to know how to download RUHS B .Pharm/D.Pharm result. The result for RUHS Pharmacy 2020 has been announced for aspirants appeared for the test:

Visit the official RUHS Pharmacy website – ruhsraj.org/admission/fpharma.php

Click on ‘provisional result of RUHS UG Pharmacy (B. Pharm and D.Pharm exam held on January 12, 2021

RUHS Pharmacy result PDF file displaying the result shows on the screen

Verify the roll number, candidate’s name, father’s name and scores obtained

Download and printout of RUHS Pharmacy 2020 result

Click here to check the RUHS Pharmacy Result 2019.

RUHS Pharmacy Result 2020 ‘Tie Breaker’

The Rajasthan University of Health Sciences (RUHS) has provided the formula to be followed in case when two candidates score the same marks in the entrance examination. The tie is dealt with using the following order of preferences:

Candidate with higher marks in 10+2 or other equivalent examination

Older candidate

Candidate with higher marks in Secondary examination (class 10) or other equivalent examination.

RUHS Pharmacy Counselling 2020,2021

RUHS Pharmacy 2020 result has been announced, which can be checked from the link above. The RUHS counselling schedule is released by concerned authorities. Choice filling for admission to RUHS Pharmacy will also be done. An allotment list will be released and candidates will have to report at the colleges allotted on a specified date, venue and time. Candidates will be invited for RUHS Pharmacy counselling 2020 according to their marks. Candidates must report at the counselling venue in person as no family member is allowed for counselling and admission process as a candidate’s representative. Candidates must participate for the counselling of RUHS Pharmacy 2020 on the stipulated date and time, along with the mandatory documents.

Documents required for RUHS Pharmacy 2020 Counselling

RUHS Pharmacy result 2020

Class XII mark sheet

Photo ID proof such as Driving license, PAN Card, Voter ID, Government or PSU card, School ID card, class XII examination admit card or Aadhaar card

Passport size photograph same as that pasted on the RUHS Pharmacy application form

Domicile certificate of Rajasthan state, if applicable

Caste certificate, sub-category certificate, if applicable

PH certificate, if applicable

Transaction document or proof of your payment

DoB proof i.e., class X certificate

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (एफएक्यू) – आरयूएचएस फार्मेसी परिणाम 2020 (घोषित): मेरिट सूची और स्कोर कार्ड पीडीएफ यहां डाउनलोड करें
प्रश्न: आरयूएचएस फार्मेसी परिणाम 2020 कब घोषित किया जाएगा
उत्तर: आरयूएचएस फार्मेसी 2020 परिणाम तिथि ruhsraj.org/admission पर घोषित की गई है।
प्रश्न: क्या मुझे अपना आरयूएचएस फार्मेसी 2020 परिणाम देखने के लिए किसी क्रेडेंशियल की आवश्यकता है?
उत्तर: नहीं। आरयूएचएस फार्मेसी 2020 का परिणाम आधिकारिक वेबसाइट पर पीडीएफ फाइल के रूप में उपलब्ध होगा।
प्रश्न: आरयूएचएस फार्मेसी की काउंसलिंग प्रक्रिया कब होगी?
उत्तर: परिणाम घोषित होने के बाद कंडक्टिंग बॉडी आरयूएचएस फार्मेसी 2020 काउंसलिंग प्रक्रिया के लिए निर्धारित सटीक तारीख की घोषणा करेगी।

RUHS Pharmacy Application Form 2021

  • The Rajasthan University of Health Sciences (RUHS), Jaipur will release the RUHS Pharmacy application form in the online mode. Eligible candidates will be able to fill the RUHS Pharmacy application form 2021 from the link which will be provided on this page.

 JOB Official Website

 JOB Official Website

 JOB Official Website

 JOB Official Website

भाग 1
1. मूल विवरण भरना:आवेदन पत्र लिंक पर क्लिक करें (जारी होने पर इस पृष्ठ पर प्रदान किया जाना है)’आवेदन भाग 1 भरें’ का चयन करें और अपना नाम दर्ज करें (जैसा कि आधिकारिक रिकॉर्ड जैसे एसएससी / एसएसएलसी / दसवीं कक्षा की मार्कशीट में बताया गया है)।अपने पिता का नाम, माता का नाम, वर्तमान पता, एसटीडी कोड और निवास फोन नंबर (वैकल्पिक), मोबाइल नंबर और ई-मेल आईडी टाइप करें।अपना स्थायी पता भरें, यदि वर्तमान पते से भिन्न है या यदि दोनों समान हैं तो चेक बॉक्स को चेक करें।अपनी जन्म तिथि, राष्ट्रीयता, अधिवास की स्थिति, लिंग और श्रेणी [एससी / एसटी / एसटी-एसटीए (अनुसूचित आदिवासी क्षेत्र) / ओबीसी (क्रीमी लेयर- सीएल) / ओबीसी (नॉन-क्रीमी लेयर- एनसीएल) / एमबीसी (क्रीमी लेयर) का चयन करें। परत – सीएल)/एमबीसी (गैर-मलाईदार परत- एनसीएल)/सामान्य (यूआर)]।शारीरिक रूप से विकलांग होने पर ‘अतिरिक्त श्रेणी’ चुनें।2. शैक्षणिक योग्यता दर्ज करना:10+2 या किसी समकक्ष परीक्षा को पूरा करने वाले उम्मीदवारों के लिए: उनके बोर्ड का नाम, परिणाम की स्थिति (उत्तीर्ण / पूरक / परिणाम प्रतीक्षित) का उल्लेख करें, उत्तीर्ण होने का वर्ष, सीजीपीए / प्रतिशत, अधिकतम अंक और भौतिकी, रसायन विज्ञान में प्राप्त अंक चुनें। 10+2 या समकक्ष परीक्षा में जीव विज्ञान/गणित (जो भी अधिक हो)।10वीं पूरी करने वाले उम्मीदवारों के लिए: उनके बोर्ड का नाम, उत्तीर्ण होने का वर्ष,% में प्राप्त अंकों का कुल दर्ज करें।‘सबमिट’ पर क्लिक करेंभरे हुए आवेदन पत्र का पूर्वावलोकन करें। यदि आवश्यक हो तो संपादित करें या ‘पुष्टि करें और जारी रखें’ पर क्लिक करें।भविष्य में लॉगिन करने के लिए अपना आवेदन आईडी और पासवर्ड नोट कर लें।भविष्य के संदर्भ के लिए आरयूएचएस फार्मेसी आवेदन पत्र- भाग 1 का प्रिंट आउट लें।3. आवेदन शुल्क का भुगतान:उम्मीदवारों को रुपये की गैर-वापसी योग्य राशि का भुगतान करना होगा। 1500 (राजस्थान राज्य के एससी, एसटी वर्ग के लिए 750 रुपये) ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड के माध्यम से।ऑफलाइन भुगतान: ‘बैंक चालान का प्रिंट आउट लेने के लिए यहां क्लिक करें’ बटन दबाएं और फिर ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी) की किसी भी शाखा में भुगतान करें।ऑनलाइन भुगतान: उम्मीदवार अपने खाता संख्या का उपयोग करके ऑनलाइन या यूपीआई के माध्यम से भुगतान कर सकते हैं। और IFSC कोड। नीचे दिए गए विवरण का प्रयोग करें:लाभार्थी का नाम: संयोजक, फार्मेसी प्रवेश परीक्षा 2021
बैंक का नाम: ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स
शाखा: आरयूएचएस, प्रताप नगर, जयपुर
बैंक खाता संख्या: 12562413000262
खाता प्रकार: बचत खाता
आईएफएससी: ओआरबीसी0101256लेन-देन पूरा होने के बाद, उम्मीदवारों को अपना नाम, फॉर्म नंबर, लेनदेन आईडी और लेनदेन की तारीख को एक कोरे कागज पर लिखना होगा, स्कैन करना होगा और इसे आरयूएचएस फार्मेसी आवेदन पत्र 2021- भाग 2 पर अपलोड करना होगा।भाग 2
4. लेन-देन विवरण अपडेट करना‘अपडेट ट्रांजेक्शन डिटेल्स’ पर क्लिक करें और अपना बैंक नाम, ट्रांजेक्शन आईडी, जमा करने की तारीख डालें।लेन-देन विवरण या बैंक चालान की स्कैन की हुई कॉपी अपलोड करें।5. अनिवार्य दस्तावेज अपलोड करना:

ऊपर बताए गए विनिर्देशों के अनुसार अपना फोटोग्राफ और हस्ताक्षर अपलोड करें।

सफलतापूर्वक अपलोड करने के बाद, ‘सबमिट’ पर क्लिक करें।

6. पाठ्यक्रम और कॉलेज का चयन:

वरीयता क्रम में पाठ्यक्रम और कॉलेज का पसंदीदा संयोजन चुनें।

घोषणा पर ‘मैं स्वीकार करता हूं’ पर क्लिक करें।

7. आवेदन पत्र का मुद्रण

भविष्य के संदर्भ के लिए पूर्ण आरयूएचएस फार्मेसी 2021 आवेदन पत्र की कम से कम 2 प्रतियां डाउनलोड और प्रिंट करें।

आरयूएचएस एप्लीकेशन फॉर्म 2021 के बाद क्या होगा?
आरयूएचएस 2021 पंजीकरण प्रक्रिया के समापन के बाद, अधिकारी फार्मेसी परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी करेंगे। उम्मीदवार अपने आवेदन आईडी और पासवर्ड का उपयोग करके आरयूएचएस फार्मेसी 2021 के एडमिट कार्ड को ऑनलाइन मोड में डाउनलोड कर सकेंगे। आरयूएचएस एडमिट कार्ड 2021 में उम्मीदवार का नाम, उनकी तस्वीर और हस्ताक्षर, उनके माता-पिता का नाम, लिंग, जन्म तिथि, रोल नंबर, परीक्षा की तारीख और समय, परीक्षा केंद्र का नाम और पता, आरयूएचएस फार्मेसी परीक्षा के हस्ताक्षर होंगे। परीक्षा के दिन काउंसलर और महत्वपूर्ण निर्देशों का पालन किया जाना चाहिए।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि आरयूएचएस फार्मेसी 2021 परीक्षा में उपस्थित होने के लिए, उम्मीदवारों को परीक्षा के दिन अपने साथ एडमिट कार्ड की हार्ड कॉपी ले जाना अनिवार्य है। किसी भी परिस्थिति में, किसी भी उम्मीदवार को आरयूएचएस फार्मेसी एडमिट कार्ड 2021 के बिना परीक्षा हॉल के अंदर प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।

Result Link Given Below

Download 1st Year Result

Click Here

Download 2nd Year Result

Click Here

Official Website

CLICK HERE

Find More Latest Updates

D. pharma license Uttar Pradesh-2021,2022

D Pharma 1st Year and 2nd Year Exam Date 2021

D Pharmacy 1st -2nd Year MCQ Questions and Answers PDF ALL SUBJECTS

BTE UP Exam Date 2021 (Released) – Diploma, Pharmacy Time Table 2021

D Pharma 1st -2nd Years Exam Date 2021 Uttar Pradesh

D. Pharmacy (Diploma in Pharmacy)d pharma updates 2021up

Uttar Pradesh D. Pharm Admission 2021: Eligibility, Admissions Process and Colleges 

D.PHARMA 1YEAR AND 2ND YEAR. SYLLABUS 2021-2022

D Pharma 1st -2nd Years New Exam Date 2021 Uttar Pradesh

Doctor Latest Govt Jobs, New Vacancy 2021,2022(All, India)

Ayurvedic Pharmacist Latest Govt Jobs, New Vacancy 2021,2022 (Uttar Pradesh)

D. Pharma 1st Year Result 2020 2021 (Uttar Pradesh) D. फार्मा प्रथम वर्ष का परिणाम 2020,2021 (उत्तर प्रदेश) लखनऊ।

Diploma in Pharmacy D Pharma Result 2020,2021

UP Polytechnic D Pharma Result 2021 Released Now

D. Pharma 1st Year and 2nd Year Result 2021(Uttar Pradesh)

GSVM Medical College, Kanpur , Asst, Lab Technician, Field Worker, jobs 2021

UP Pharmacist Vacancy Online Form 2021

Allopathic Pharmacists Latest, Government Vacancy Details 2021,2022 (Uttar Pradesh)

UPSSSC Pharmacist Recruitment Apply Online 2021

ESICMH Bareilly Physician, Pharmacist Recruitment Apply Online form 2021

MBBS New Vacancy Details Govt Jobs 2021, 2022 Uttar Pradesh

Ayurveda Course 2021,2022- Eligibility, Admission, Scope Careers & Salary

M. Pharma (Master of Pharmacy) – Course, Eligibility, Admission, Scope & Salary

B.Pharma (Bachelor of Pharmacy) – Course, Eligibility, Admission, Syllabus, Salary & Scope

डी. फार्मेसी पूरी जानकारी हिंदी में
फ़ार्मेसी नैदानिक ​​​​स्वास्थ्य विज्ञान है जो चिकित्सा विज्ञान को रसायन विज्ञान से जोड़ता है और इसे दवाओं और दवाओं की खोज, उत्पादन, निपटान, सुरक्षित और प्रभावी उपयोग और नियंत्रण का आरोप लगाया जाता है। फार्मेसी के अभ्यास के लिए दवाओं का उत्कृष्ट ज्ञान, उनकी क्रिया का तंत्र, दुष्प्रभाव, बातचीत, गतिशीलता और विषाक्तता की आवश्यकता होती है। साथ ही, इसे उपचार के ज्ञान और रोग प्रक्रिया की समझ की आवश्यकता होती है। फार्मासिस्टों की कुछ विशिष्टताओं, जैसे कि नैदानिक ​​फार्मासिस्टों के लिए अन्य कौशलों की आवश्यकता होती है, उदा। भौतिक और प्रयोगशाला डेटा के अधिग्रहण और मूल्यांकन के बारे में ज्ञान। [1]
फ़ार्मेसी अभ्यास के दायरे में अधिक पारंपरिक भूमिकाएँ शामिल हैं जैसे कि दवाओं का संयोजन और वितरण, और इसमें स्वास्थ्य देखभाल से संबंधित अधिक आधुनिक सेवाएँ भी शामिल हैं, जिसमें नैदानिक ​​सेवाएँ, सुरक्षा और प्रभावकारिता के लिए दवाओं की समीक्षा करना और दवा की जानकारी प्रदान करना शामिल है। इसलिए, फार्मासिस्ट ड्रग थेरेपी के विशेषज्ञ हैं और प्राथमिक स्वास्थ्य पेशेवर हैं जो रोगियों के लाभ के लिए दवा के उपयोग को अनुकूलित करते हैं।
एक प्रतिष्ठान जिसमें फ़ार्मेसी (पहले अर्थ में) का अभ्यास किया जाता है, उसे फ़ार्मेसी कहा जाता है (यह शब्द संयुक्त राज्य में अधिक सामान्य है) या एक केमिस्ट (जो ग्रेट ब्रिटेन में अधिक सामान्य है, हालांकि फ़ार्मेसी का भी उपयोग किया जाता है) [उद्धरण वांछित] . संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा में, दवा की दुकानें आमतौर पर दवाएं, साथ ही साथ कन्फेक्शनरी, सौंदर्य प्रसाधन, कार्यालय की आपूर्ति, खिलौने, बालों की देखभाल के उत्पाद और पत्रिकाएं और कभी-कभी जलपान और किराने का सामान बेचते हैं।
हर्बल और रासायनिक अवयवों की अपनी जांच में, वैज्ञानिक पद्धति के निर्माण से पहले, औषधालय के काम को रसायन विज्ञान और औषध विज्ञान के आधुनिक विज्ञान के अग्रदूत के रूप में माना जा सकता है।
फार्मेसी का भविष्य
आने वाले दशकों में, फार्मासिस्टों के स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली के भीतर और अधिक अभिन्न होने की उम्मीद है। केवल दवा देने के बजाय, फार्मासिस्टों को उनके रोगी देखभाल कौशल के लिए मुआवजा दिए जाने की उम्मीद की जा रही है।[47] विशेष रूप से, दवा चिकित्सा प्रबंधन (एमटीएम) में वे नैदानिक ​​सेवाएं शामिल हैं जो फार्मासिस्ट अपने रोगियों के लिए प्रदान कर सकते हैं। ऐसी सेवाओं में एक व्यक्ति द्वारा वर्तमान में ली जा रही सभी दवाओं (नुस्खे, गैर-पर्चे और जड़ी-बूटियों) का गहन विश्लेषण शामिल है। परिणाम दवा और रोगी शिक्षा का एक मेल है जिसके परिणामस्वरूप रोगी के स्वास्थ्य परिणामों में वृद्धि हुई है और स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली की लागत में कमी आई है। [48]
यह बदलाव कुछ देशों में पहले ही शुरू हो चुका है; उदाहरण के लिए, ऑस्ट्रेलिया में फार्मासिस्ट व्यापक घरेलू दवाओं की समीक्षा करने के लिए ऑस्ट्रेलियाई सरकार से पारिश्रमिक प्राप्त करते हैं। कनाडा में, कुछ प्रांतों के फार्मासिस्टों के पास सीमित प्रिस्क्राइबिंग अधिकार हैं (जैसे अल्बर्टा और ब्रिटिश कोलंबिया में) या उनकी प्रांतीय सरकार द्वारा विस्तारित सेवाओं जैसे कि दवाओं की समीक्षा (ओंटारियो में मेडचेक्स) के लिए पारिश्रमिक दिया जाता है। यूनाइटेड किंगडम में, जो फार्मासिस्ट अतिरिक्त प्रशिक्षण लेते हैं, वे प्रिस्क्राइबिंग अधिकार प्राप्त कर रहे हैं और यह फार्मेसी शिक्षा के कारण है। दवा उपयोग की समीक्षा के लिए सरकार द्वारा उन्हें भुगतान भी किया जा रहा है। स्कॉटलैंड में, फार्मासिस्ट अपनी नियमित दवाओं के स्कॉटिश पंजीकृत रोगियों के लिए, नियंत्रित दवाओं को छोड़कर, अधिकांश दवाओं के लिए नुस्खे लिख सकता है, जब रोगी अपने डॉक्टर को देखने में असमर्थ होता है, जैसा कि तब हो सकता है जब वे घर या डॉक्टर से दूर हों। अनुपलब्ध है। संयुक्त राज्य अमेरिका में, फ़ार्मास्यूटिकल देखभाल या क्लिनिकल फ़ार्मेसी का फ़ार्मेसी के अभ्यास पर एक विकसित प्रभाव पड़ा है। [49] इसके अलावा, डॉक्टर ऑफ फ़ार्मेसी (फार्मा। डी।) की डिग्री अब अभ्यास में प्रवेश करने से पहले आवश्यक है और कुछ फार्मासिस्ट अब स्नातक के बाद एक या दो साल का रेजिडेंसी या फेलोशिप प्रशिक्षण पूरा करते हैं। इसके अलावा, परामर्शदाता फार्मासिस्ट, जो परंपरागत रूप से मुख्य रूप से नर्सिंग होम में संचालित होते थे, अब “सीनियर केयर फ़ार्मेसी” के बैनर तले रोगियों के साथ सीधे परामर्श में विस्तार कर रहे हैं। [50]
रोगी देखभाल के अलावा, फ़ार्मेसी चिकित्सा पालन पहल के लिए एक केंद्र बिंदु होगी। यह दिखाने के लिए पर्याप्त सबूत हैं कि एकीकृत फ़ार्मेसी आधारित पहल पुराने रोगियों के लिए पालन को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित करती हैं। उदाहरण के लिए, एनआईएच में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चलता है कि “फार्मेसी आधारित हस्तक्षेप ने रोगियों की दवा पालन दर में 2.1 प्रतिशत सुधार किया और नियंत्रण समूह की तुलना में चिकित्सकों की दीक्षा दरों में 38 प्रतिशत की वृद्धि की”। [51]
फार्मेसी सूचना विज्ञान
मुख्य लेख: फार्मेसी सूचना विज्ञान
फ़ार्मेसी सूचना विज्ञान, फ़ार्मेसी अभ्यास विज्ञान और अनुप्रयुक्त सूचना विज्ञान का संयोजन है। [31] फ़ार्मेसी सूचनाविद फ़ार्मेसी के कई अभ्यास क्षेत्रों में काम करते हैं, हालाँकि, वे सूचना प्रौद्योगिकी विभागों या स्वास्थ्य सूचना प्रौद्योगिकी विक्रेता कंपनियों के लिए भी काम कर सकते हैं। एक अभ्यास क्षेत्र और विशेषज्ञ डोमेन के रूप में, प्रमुख राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय रोगी सूचना परियोजनाओं और स्वास्थ्य प्रणाली इंटरऑपरेबिलिटी लक्ष्यों की जरूरतों को पूरा करने के लिए फार्मेसी सूचना विज्ञान तेजी से बढ़ रहा है। फार्मासिस्टों

इस क्षेत्र में दवा प्रबंधन प्रणाली के विकास, परिनियोजन और अनुकूलन में भाग लेने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है।
विशेषता फार्मेसी
मुख्य लेख: स्पेशलिटी फार्मेसी
विशेष फार्मेसियां ​​उच्च लागत वाली इंजेक्शन योग्य, मौखिक, संक्रमित, या साँस में ली जाने वाली दवाओं की आपूर्ति करती हैं जिनका उपयोग कैंसर, हेपेटाइटिस, और रुमेटीइड गठिया जैसी पुरानी और जटिल बीमारियों के लिए किया जाता है। [32] एक पारंपरिक सामुदायिक फ़ार्मेसी के विपरीत, जहाँ किसी भी सामान्य दवा के नुस्खे लाए और भरे जा सकते हैं, विशेष फ़ार्मेसियों में नई दवाएं होती हैं जिन्हें ठीक से संग्रहीत, प्रशासित, सावधानीपूर्वक निगरानी और चिकित्सकीय रूप से प्रबंधित करने की आवश्यकता होती है। [33] इन दवाओं की आपूर्ति के अलावा, विशेष फार्मेसियां ​​प्रयोगशाला निगरानी, ​​​​अनुपालन परामर्श भी प्रदान करती हैं, और रोगियों को उनकी महंगी विशेषता दवाओं को प्राप्त करने के लिए आवश्यक लागत-नियंत्रण रणनीतियों के साथ सहायता करती हैं। [34] अमेरिका में, यह वर्तमान में फार्मास्युटिकल उद्योग का सबसे तेजी से बढ़ने वाला क्षेत्र है, जिसमें 2013 में एफडीए द्वारा अनुमोदित 28 नई दवाओं में से 19 विशेष दवाएं हैं।[35]
इन विशिष्ट रोगी आबादी को ठीक से प्रबंधित करने वाले चिकित्सकों की मांग के कारण, स्पेशलिटी फ़ार्मेसी सर्टिफिकेशन बोर्ड ने विशेष फार्मासिस्टों को प्रमाणित करने के लिए एक नई प्रमाणन परीक्षा विकसित की है। कम्प्यूटरीकृत बहुविकल्पीय परीक्षा के 100 प्रश्नों के साथ, फार्मासिस्टों को पिछले तीन वर्षों के भीतर विशेष फार्मेसी अभ्यास के 3,000 घंटे के साथ-साथ पिछले दो वर्षों के भीतर विशेष फार्मासिस्ट की सतत शिक्षा के 30 घंटे भी पूरे करने होंगे।
अस्पताल फार्मेसी
मुख्य लेख: अस्पताल फार्मेसी
अस्पतालों के भीतर फ़ार्मेसी सामुदायिक फ़ार्मेसीज़ से काफी भिन्न होती हैं। अस्पताल के फार्मेसियों में कुछ फार्मासिस्टों के पास अधिक जटिल नैदानिक ​​दवा प्रबंधन मुद्दे हो सकते हैं, और सामुदायिक फार्मेसियों में फार्मासिस्टों के पास अक्सर अधिक जटिल व्यवसाय और ग्राहक संबंध मुद्दे होते हैं।
विशिष्ट संकेतों सहित दवाओं की जटिलता के कारण, उपचार के नियमों की प्रभावशीलता, दवाओं की सुरक्षा (यानी, दवा बातचीत) और रोगी अनुपालन मुद्दों (अस्पताल में और घर पर), अस्पतालों में अभ्यास करने वाले कई फार्मासिस्ट फार्मेसी स्कूल के बाद अधिक शिक्षा और प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं। एक फार्मेसी प्रैक्टिस रेजीडेंसी के माध्यम से और कभी-कभी किसी विशिष्ट क्षेत्र में दूसरे रेजीडेंसी द्वारा पीछा किया जाता है। उन फार्मासिस्टों को अक्सर क्लिनिकल फार्मासिस्ट के रूप में जाना जाता है और वे अक्सर फार्मेसी के विभिन्न विषयों के विशेषज्ञ होते हैं।
उदाहरण के लिए, ऐसे फार्मासिस्ट हैं जो हेमेटोलॉजी/ऑन्कोलॉजी, एचआईवी/एड्स, संक्रामक रोग, गंभीर देखभाल, आपातकालीन चिकित्सा, विष विज्ञान, परमाणु फार्मेसी, दर्द प्रबंधन, मनोरोग, एंटी-जमावट क्लीनिक, हर्बल दवा, न्यूरोलॉजी/मिर्गी प्रबंधन, बाल रोग के विशेषज्ञ हैं। , नवजात फार्मासिस्ट और बहुत कुछ।
अस्पताल के फार्मेसियों को अक्सर अस्पताल के परिसर के भीतर पाया जा सकता है। अस्पताल के फ़ार्मेसी आमतौर पर अधिक विशिष्ट दवाओं सहित दवाओं की एक बड़ी श्रृंखला का स्टॉक करते हैं, जो सामुदायिक सेटिंग में संभव होगा। अधिकांश अस्पताल की दवाएं यूनिट-खुराक, या दवा की एक खुराक होती हैं। अस्पताल के फार्मासिस्ट और प्रशिक्षित फ़ार्मेसी तकनीशियन कुल पैरेंट्रल न्यूट्रिशन (टीपीएन) सहित रोगियों के लिए कंपाउंड स्टेराइल उत्पाद और अन्य दवाएं अंतःशिरा में दी जाती हैं। यह एक जटिल प्रक्रिया है जिसके लिए कर्मियों के पर्याप्त प्रशिक्षण, उत्पादों की गुणवत्ता आश्वासन और पर्याप्त सुविधाओं की आवश्यकता होती है।
कई अस्पताल फार्मेसियों ने उच्च जोखिम वाली तैयारी और कुछ अन्य कंपाउंडिंग कार्यों को उन कंपनियों को आउटसोर्स करने का निर्णय लिया है जो कंपाउंडिंग में विशेषज्ञ हैं। दवाओं और दवा से संबंधित प्रौद्योगिकी की उच्च लागत और रोगी देखभाल परिणामों और रोगी सुरक्षा पर दवाओं और फार्मेसी सेवाओं के संभावित प्रभाव के लिए अस्पताल के फार्मेसियों को उच्चतम स्तर पर प्रदर्शन करने की आवश्यकता होती है।
रोग विष्यक औषधालय
मुख्य लेख: क्लिनिकल फार्मेसी
फार्मासिस्ट प्रत्यक्ष रोगी देखभाल सेवाएं प्रदान करते हैं जो दवा के उपयोग को अनुकूलित करती हैं और स्वास्थ्य, कल्याण और रोग की रोकथाम को बढ़ावा देती हैं। [21] क्लिनिकल फार्मासिस्ट सभी स्वास्थ्य देखभाल सेटिंग्स में रोगियों की देखभाल करते हैं, लेकिन क्लिनिकल फ़ार्मेसी आंदोलन शुरू में अस्पतालों और क्लीनिकों के अंदर शुरू हुआ। क्लिनिकल फार्मासिस्ट अक्सर फ़ार्मास्यूटिकल देखभाल में सुधार के लिए चिकित्सकों और अन्य स्वास्थ्य पेशेवरों के साथ सहयोग करते हैं। क्लिनिकल फार्मासिस्ट अब रोगी देखभाल के लिए अंतःविषय दृष्टिकोण का एक अभिन्न अंग हैं। वे अक्सर दवा उत्पाद चयन के लिए रोगी देखभाल दौर में भाग लेते हैं। यूके में क्लिनिकल फार्मासिस्ट एनएचएस पर या निजी तौर पर रोगियों के लिए कुछ दवाएं लिख सकते हैं, एक स्वतंत्र प्रेस्क्राइबर बनने के लिए गैर-चिकित्सीय प्रिस्क्राइबर कोर्स पूरा करने के बाद। [22]
क्लिनिकल फार्मासिस्ट की भूमिका में रोगी-विशिष्ट समस्याओं के लिए एक व्यापक ड्रग थेरेपी योजना बनाना, चिकित्सा के लक्ष्यों की पहचान करना और रोगी को वितरण और प्रशासन से पहले सभी निर्धारित दवाओं की समीक्षा करना शामिल है। समीक्षा प्रक्रिया में अक्सर ड्रग थेरेपी की उपयुक्तता (जैसे, दवा की पसंद, खुराक, मार्ग, आवृत्ति और चिकित्सा की अवधि) और इसकी प्रभावकारिता का मूल्यांकन शामिल होता है। फार्मासिस्ट को संभावित दवाओं के अंतःक्रियाओं, प्रतिकूल दवा प्रतिक्रियाओं की निगरानी भी करनी चाहिए, ए

एन डी रोगी दवा एलर्जी का आकलन करते हैं, जब वे एक दवा चिकित्सा योजना तैयार करते हैं और शुरू करते हैं। [23]
एम्बुलेटरी केयर फार्मेसी
आधुनिक क्लिनिकल फ़ार्मेसी के उद्भव के बाद से, एम्बुलेटरी केयर फ़ार्मेसी प्रैक्टिस एक अद्वितीय फ़ार्मेसी प्रैक्टिस सेटिंग के रूप में उभरी है। एम्बुलेटरी केयर फ़ार्मेसी मुख्य रूप से फ़ार्माकोथेरेपी सेवाओं पर आधारित होती है जो एक फार्मासिस्ट एक क्लिनिक में प्रदान करता है। इस सेटिंग में फार्मासिस्ट अक्सर दवाओं का वितरण नहीं करते हैं, बल्कि पुरानी बीमारी की स्थिति का प्रबंधन करने के लिए रोगियों को कार्यालय के दौरे पर देखते हैं।
यू.एस. संघीय स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली (वीए, भारतीय स्वास्थ्य सेवा, और एनआईएच सहित) में चलने वाली देखभाल करने वाले फार्मासिस्टों को पूर्ण स्वतंत्र प्रिस्क्राइबिंग अथॉरिटी दी जाती है। कुछ राज्यों जैसे उत्तरी कैरोलिना और न्यू मैक्सिको में इन फार्मासिस्ट चिकित्सकों को सहयोगात्मक निर्देशात्मक और नैदानिक ​​​​अधिकार दिया जाता है। [24] 2011 में बोर्ड ऑफ फार्मास्युटिकल स्पेशियलिटीज ने एक अलग बोर्ड प्रमाणन के रूप में एम्बुलेटरी केयर फ़ार्मेसी प्रैक्टिस को मंजूरी दी। एम्बुलेटरी केयर फ़ार्मेसी स्पेशलिटी सर्टिफिकेशन परीक्षा पास करने वाले फार्मासिस्टों के लिए आधिकारिक पदनाम बोर्ड सर्टिफाइड एम्बुलेटरी केयर फार्मासिस्ट होगा और ये फार्मासिस्ट बीसीएसीपी के आद्याक्षर होंगे। [25]
कंपाउंडिंग फार्मेसी/औद्योगिक फार्मेसी
मुख्य लेख: कंपाउंडिंग
कंपाउंडिंग में दवाओं को ऐसे रूपों में तैयार करना शामिल है जो जेनेरिक नुस्खे के मानक से अलग हैं। इसमें ताकत, सामग्री, या खुराक के रूप में परिवर्तन शामिल हो सकता है। [26] कंपाउंडिंग उन रोगियों के लिए कस्टम दवाएं बनाने का एक तरीका है जो अपने मानक रूप में दवा लेने में सक्षम नहीं हो सकते हैं, जैसे कि एलर्जी या निगलने में कठिनाई के कारण। इन रोगियों के लिए अभी भी आवश्यक नुस्खे ठीक से प्राप्त करने में सक्षम होने के लिए कंपाउंडिंग आवश्यक है।
कंपाउंडिंग का एक क्षेत्र नए खुराक रूपों में दवाएं तैयार कर रहा है। उदाहरण के लिए, यदि कोई दवा निर्माता केवल टैबलेट के रूप में एक दवा प्रदान करता है, तो एक कंपाउंडिंग फार्मासिस्ट एक औषधीय लॉलीपॉप बना सकता है जिसमें दवा होती है। जिन रोगियों को टैबलेट निगलने में कठिनाई होती है, वे इसके बजाय औषधीय लॉलीपॉप चूसना पसंद कर सकते हैं।
कंपाउंडिंग का एक अन्य रूप चिकित्सक, चिकित्सक सहायक, नर्स प्रैक्टिशनर, या क्लिनिकल फार्मासिस्ट प्रैक्टिशनर द्वारा इंगित वांछित मात्रा में दवा प्राप्त करने के लिए कैप्सूल या टैबलेट की विभिन्न शक्तियों (जी, एमजी, एमसीजी) को मिलाकर है। कंपाउंडिंग का यह रूप सामुदायिक या अस्पताल के फार्मेसियों या इन-होम एडमिनिस्ट्रेशन थेरेपी में पाया जाता है।
कंपाउंडिंग फ़ार्मेसीज़ कंपाउंडिंग में विशेषज्ञ होती हैं, हालांकि कई गैर-यौगिक दवाएं भी वितरित करती हैं जो मरीज़ सामुदायिक फ़ार्मेसियों से प्राप्त कर सकते हैं।
भेषज विज्ञान दवाओं के डिजाइन, क्रिया, वितरण और स्वभाव से संबंधित अध्ययन के अंतःविषय क्षेत्रों का एक समूह है। वे रसायन विज्ञान (अकार्बनिक, भौतिक, जैव रासायनिक और विश्लेषणात्मक), जीव विज्ञान (शरीर रचना विज्ञान, शरीर विज्ञान, जैव रसायन, कोशिका जीव विज्ञान, और आणविक जीव विज्ञान), महामारी विज्ञान, सांख्यिकी, रसायन विज्ञान, गणित, भौतिकी और रासायनिक इंजीनियरिंग से ज्ञान लागू करते हैं। [37]
चार मुख्य शाखाओं के साथ, फार्मास्युटिकल विज्ञान को कई विशिष्ट विशिष्टताओं में विभाजित किया गया है:
औषध विज्ञान: मानव पर दवाओं के जैव रासायनिक और शारीरिक प्रभावों का अध्ययन।
फार्माकोडायनामिक्स: दवाओं के उनके रिसेप्टर्स के साथ सेलुलर और आणविक बातचीत का अध्ययन। बस “दवा शरीर को क्या करती है” [38]
फार्माकोकाइनेटिक्स: उन कारकों का अध्ययन जो शरीर में विभिन्न स्थानों पर दवा की एकाग्रता को नियंत्रित करते हैं। बस “शरीर दवा का क्या करता है” [39]
फार्मास्युटिकल टॉक्सिकोलॉजी: दवाओं के हानिकारक या विषाक्त प्रभावों का अध्ययन। [उद्धरण वांछित]
फार्माकोजेनोमिक्स: दवाओं और जीवों के बीच बातचीत के विशिष्ट पैटर्न की विरासत का अध्ययन। [40]
फार्मास्युटिकल केमिस्ट्री: फार्माकोकाइनेटिक्स और फार्माकोडायनामिक्स को अनुकूलित करने के लिए दवा डिजाइन का अध्ययन, और नई दवा अणुओं (औषधीय रसायन विज्ञान) का संश्लेषण।
भेषज: इष्टतम वितरण, स्थिरता, फार्माकोकाइनेटिक्स और रोगी स्वीकृति के लिए दवा निर्माण का अध्ययन और डिजाइन। [41]
फार्माकोग्नॉसी: प्राकृतिक स्रोतों से प्राप्त दवाओं का अध्ययन। [42]
जैसे-जैसे नई खोजें आगे बढ़ती हैं और फार्मास्युटिकल विज्ञान का विस्तार करती हैं, उप-विशिष्टताओं को इस सूची में जोड़ा जाना जारी है। महत्वपूर्ण रूप से, जैसे-जैसे ज्ञान आगे बढ़ता है, फार्मास्युटिकल विज्ञान के इन विशिष्ट क्षेत्रों के बीच की सीमाएं धुंधली होने लगती हैं। कई मौलिक अवधारणाएं सभी फार्मास्युटिकल विज्ञानों के लिए समान हैं। ये साझा मौलिक अवधारणाएं फार्मास्युटिकल रिसर्च और ड्रग थेरेपी के सभी पहलुओं पर उनकी प्रयोज्यता की समझ को आगे बढ़ाती हैं।
फार्माकोसाइबरनेटिक्स (जिसे फार्मा-साइबरनेटिक्स, साइबरनेटिक फ़ार्मेसी और साइबर फ़ार्मेसी के रूप में भी जाना जाता है) एक उभरता हुआ क्षेत्र है जो सूचना विज्ञान और इंटरनेट प्रौद्योगिकियों के अनुप्रयोग और मूल्यांकन के माध्यम से दवाओं और दवाओं के उपयोग के विज्ञान का वर्णन करता है, ताकि रोगियों की दवा देखभाल में सुधार किया जा सके। .

D. Pharmacy Full Information in English

  • Pharmacy is the clinical health science that links medical science with chemistry and it is charged with the discovery, production, disposal, safe and effective use, and control of medications and drugs. The practice of pharmacy requires excellent knowledge of drugs, their mechanism of action, side effects, interactions, mobility and toxicity. At the same time, it requires knowledge of treatment and understanding of the pathological process. Some specialties of pharmacists, such as that of clinical pharmacists, require other skills, e.g. knowledge about the acquisition and evaluation of physical and laboratory data. [1]
  • The scope of pharmacy practice includes more traditional roles such as compounding and dispensing of medications, and it also includes more modern services related to health care, including clinical services, reviewing medications for safety and efficacy, and providing drug information. Pharmacists, therefore, are the experts on drug therapy and are the primary health professionals who optimize the use of medication for the benefit of the patients.
  • An establishment in which pharmacy (in the first sense) is practiced is called a pharmacy (this term is more common in the United States) or a chemist’s (which is more common in Great Britain, though pharmacy is also used)[citation needed]. In the United States and Canada, drugstores commonly sell medicines, as well as miscellaneous items such as confectionery, cosmetics, office supplies, toys, hair care products and magazines and occasionally refreshments and groceries.
  • In its investigation of herbal and chemical ingredients, the work of the apothecary may be regarded as a precursor of the modern sciences of chemistry and pharmacology, prior to the formulation of the scientific method
  • The future of pharmacy
  • In the coming decades, pharmacists are expected to become more integral within the health care system. Rather than simply dispensing medication, pharmacists are increasingly expected to be compensated for their patient care skills.[47] In particular, Medication Therapy Management (MTM) includes the clinical services that pharmacists can provide for their patients. Such services include a thorough analysis of all medication (prescription, non-prescription, and herbals) currently being taken by an individual. The result is a reconciliation of medication and patient education resulting in increased patient health outcomes and decreased costs to the health care system.[48]
  • This shift has already commenced in some countries; for instance, pharmacists in Australia receive remuneration from the Australian Government for conducting comprehensive Home Medicines Reviews. In Canada, pharmacists in certain provinces have limited prescribing rights (as in Alberta and British Columbia) or are remunerated by their provincial government for expanded services such as medications reviews (Medschecks in Ontario). In the United Kingdom, pharmacists who undertake additional training are obtaining prescribing rights and this is because of pharmacy education. They are also being paid for by the government for medicine use reviews. In Scotland, the pharmacist can write prescriptions for Scottish registered patients of their regular medications, for the majority of drugs, except for controlled drugs, when the patient is unable to see their doctor, as could happen if they are away from home or the doctor is unavailable. In the United States, pharmaceutical care or clinical pharmacy has had an evolving influence on the practice of pharmacy.[49] Moreover, the Doctor of Pharmacy (Pharm. D.) degree is now required before entering practice and some pharmacists now complete one or two years of residency or fellowship training following graduation. In addition, consultant pharmacists, who traditionally operated primarily in nursing homes are now expanding into direct consultation with patients, under the banner of “senior care pharmacy”.[50]
  • In addition to patient care, pharmacies will be a focal point for medical adherence initiatives. There is enough evidence to show that integrated pharmacy based initiatives significantly impact adherence for chronic patients. For example, a study published in NIH shows “pharmacy based interventions improved patients’ medication adherence rates by 2.1 percent and increased physicians’ initiation rates by 38 percent, compared to the control group”.[51]
  • Pharmacy informatics
    Main article: Pharmacy informatics
    Pharmacy informatics is the combination of pharmacy practice science and applied information science.[31] Pharmacy informaticists work in many practice areas of pharmacy, however, they may also work in information technology departments or for healthcare information technology vendor companies. As a practice area and specialist domain, pharmacy informatics is growing quickly to meet the needs of major national and international patient information projects and health system interoperability goals. Pharmacists in this area are trained to participate in medication management system development, deployment, and optimization.
  • Specialty pharmacy
    Main article: Specialty pharmacy
    Specialty pharmacies supply high-cost injectable, oral, infused, or inhaled medications that are used for chronic and complex disease states such as cancer, hepatitis, and rheumatoid arthritis.[32] Unlike a traditional community pharmacy where prescriptions for any common medication can be brought in and filled, specialty pharmacies carry novel medications that need to be properly stored, administered, carefully monitored, and clinically managed.[33] In addition to supplying these drugs, specialty pharmacies also provide lab monitoring, adherence counseling, and assist patients with cost-containment strategies needed to obtain their expensive specialty drugs.[34] In the US, it is currently the fastest-growing sector of the pharmaceutical industry with 19 of 28 newly FDA approved medications in 2013 being specialty drugs.[35]
  • Due to the demand for clinicians who can properly manage these specific patient populations, the Specialty Pharmacy Certification Board has developed a new certification exam to certify specialty pharmacists. Along with the 100 questions computerized multiple-choice exam, pharmacists must also complete 3,000 hours of specialty pharmacy practice within the past three years as well as 30 hours of specialty pharmacist continuing education within the past two years
  • Hospital pharmacy
    Main article: Hospital pharmacy
    Pharmacies within hospitals differ considerably from community pharmacies. Some pharmacists in hospital pharmacies may have more complex clinical medication management issues, and pharmacists in community pharmacies often have more complex business and customer relations issues.
  • Because of the complexity of medications including specific indications, effectiveness of treatment regimens, safety of medications (i.e., drug interactions) and patient compliance issues (in the hospital and at home), many pharmacists practicing in hospitals gain more education and training after pharmacy school through a pharmacy practice residency and sometimes followed by another residency in a specific area. Those pharmacists are often referred to as clinical pharmacists and they often specialize in various disciplines of pharmacy.
  • For example, there are pharmacists who specialize in hematology/oncology, HIV/AIDS, infectious disease, critical care, emergency medicine, toxicology, nuclear pharmacy, pain management, psychiatry, anti-coagulation clinics, herbal medicine, neurology/epilepsy management, pediatrics, neonatal pharmacists and more.
  • Hospital pharmacies can often be found within the premises of the hospital. Hospital pharmacies usually stock a larger range of medications, including more specialized medications, than would be feasible in the community setting. Most hospital medications are unit-dose, or a single dose of medicine. Hospital pharmacists and trained pharmacy technicians compound sterile products for patients including total parenteral nutrition (TPN), and other medications are given intravenously. That is a complex process that requires adequate training of personnel, quality assurance of products, and adequate facilities.
  • Several hospital pharmacies have decided to outsource high-risk preparations and some other compounding functions to companies who specialize in compounding. The high cost of medications and drug-related technology and the potential impact of medications and pharmacy services on patient-care outcomes and patient safety require hospital pharmacies to perform at the highest level possible.
  • Clinical pharmacy
    Main article: Clinical pharmacy
    Pharmacists provide direct patient care services that optimize the use of medication and promotes health, wellness, and disease prevention.[21] Clinical pharmacists care for patients in all health care settings, but the clinical pharmacy movement initially began inside hospitals and clinics. Clinical pharmacists often collaborate with physicians and other healthcare professionals to improve pharmaceutical care. Clinical pharmacists are now an integral part of the interdisciplinary approach to patient care. They often participate in patient care rounds for drug product selection. In the UK clinical pharmacists can also prescribe some medications for patients on the NHS or privately, after completing a non-medical prescribers course to become an Independent Prescriber.[22]
  • The clinical pharmacist’s role involves creating a comprehensive drug therapy plan for patient-specific problems, identifying goals of therapy, and reviewing all prescribed medications prior to dispensing and administration to the patient. The review process often involves an evaluation of the appropriateness of drug therapy (e.g., drug choice, dose, route, frequency, and duration of therapy) and its efficacy. The pharmacist must also monitor for potential drug interactions, adverse drug reactions, and assess patient drug allergies while they design and initiate a drug therapy plan.[23]
  • Ambulatory care pharmacy
    Since the emergence of modern clinical pharmacy, ambulatory care pharmacy practice has emerged as a unique pharmacy practice setting. Ambulatory care pharmacy is based primarily on pharmacotherapy services that a pharmacist provides in a clinic. Pharmacists in this setting often do not dispense drugs, but rather see patients in-office visits to manage chronic disease states.
  • In the U.S. federal health care system (including the VA, the Indian Health Service, and NIH) ambulatory care pharmacists are given full independent prescribing authority. In some states such North Carolina and New Mexico these pharmacist clinicians are given collaborative prescriptive and diagnostic authority.[24] In 2011 the board of Pharmaceutical Specialties approved ambulatory care pharmacy practice as a separate board certification. The official designation for pharmacists who pass the ambulatory care pharmacy specialty certification exam will be Board Certified Ambulatory Care Pharmacist and these pharmacists will carry the initials BCACP.[25]
  • Compounding pharmacy/industrial pharmacy
    Main article: Compounding
    Compounding involves preparing drugs in forms that are different from the generic prescription standard. This may include altering the strength, ingredients, or dosage form.[26] Compounding is a way to create custom drugs for patients who may not be able to take the medication in its standard form, such as due to an allergy or difficulty swallowing. Compounding is necessary for these patients to still be able to properly get the prescriptions they need.
  • One area of compounding is preparing drugs in new dosage forms. For example, if a drug manufacturer only provides a drug as a tablet, a compounding pharmacist might make a medicated lollipop that contains the drug. Patients who have difficulty swallowing the tablet may prefer to suck the medicated lollipop instead.
  • Another form of compounding is by mixing different strengths (g, mg, mcg) of capsules or tablets to yield the desired amount of medication indicated by the physician, physician assistant, nurse practitioner, or clinical pharmacist practitioner. This form of compounding is found at community or hospital pharmacies or in-home administration therapy.
  • Compounding pharmacies specialize in compounding, although many also dispense the same non-compounded drugs that patients can obtain from community pharmacies.
  • The pharmaceutical sciences are a group of interdisciplinary areas of study concerned with the design, action, delivery, and disposition of drugs. They apply knowledge from chemistry (inorganic, physical, biochemical and analytical), biology (anatomy, physiology, biochemistry, cell biology, and molecular biology), epidemiology, statistics, chemometrics, mathematics, physics, and chemical engineering.[37]
  • The pharmaceutical sciences are further subdivided into several specific specialties, with four main branches:
  • Pharmacology: the study of the biochemical and physiological effects of drugs on human beings.
    Pharmacodynamics: the study of the cellular and molecular interactions of drugs with their receptors. Simply “What the drug does to the body”[38]
    Pharmacokinetics: the study of the factors that control the concentration of drug at various sites in the body. Simply “What the body does to the drug” [39]
    Pharmaceutical toxicology: the study of the harmful or toxic effects of drugs.[citation needed]
    Pharmacogenomics: the study of the inheritance of characteristic patterns of interaction between drugs and organisms.[40]
    Pharmaceutical chemistry: the study of drug design to optimize pharmacokinetics and pharmacodynamics, and synthesis of new drug molecules (Medicinal Chemistry).
    Pharmaceutics: the study and design of drug formulation for optimum delivery, stability, pharmacokinetics, and patient acceptance.[41]
    Pharmacognosy: the study of medicines derived from natural sources.[42]
    As new discoveries advance and extend the pharmaceutical sciences, subspecialties continue to be added to this list. Importantly, as knowledge advances, boundaries between these specialty areas of pharmaceutical sciences are beginning to blur. Many fundamental concepts are common to all pharmaceutical sciences. These shared fundamental concepts further the understanding of their applicability to all aspects of pharmaceutical research and drug therapy.
  • Pharmacocybernetics (also known as pharma-cybernetics, cybernetic pharmacy, and cyber pharmacy) is an emerging field that describes the science of supporting drugs and medications use through the application and evaluation of informatics and internet technologies, so as to improve the pharmaceutical care of patients.



Copyright © 2018-2025 RojgarTak.com All Rights Reserved RojgarTak